शिवाजी गणेशन का जीवन परिचय।Sivaji Ganesan Biography In Hindi

शिवाजी गणेशन का जीवन परिचय।Sivaji Ganesan Biography in hindi

शिवाजी गणेशन का जीवन परिचय,जीवनी ,मूवी ,फिल्म , उम्र, धर्म,लंबाई , जाति ,पत्नी,बच्चे (Sivaji Ganesan Biography, Movies , age, father ,cast ,family ,height , family tree, net worth ,Marriage ,wife )

शिवाजी गणेशन एक भारतीय तमिल अभिनेता, राजनीतिज्ञ, फिल्म निर्माता थे। शिवाजी ने लगभग 50 सालो के अपने फ़िल्मी करियर में 300 से अधिक तमिल फिल्मों में अभिनय किया है। उन्होंने नौ तेलुगु फिल्मों, दो हिंदी फिल्मों और एक मलयालम फिल्म शामिल है। 

 इनको भारत सरकार द्वारा साल 1984  में कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये तमिलनाडु राज्य से हैं। 1997 में, गणेशन को दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया , जो भारत में फिल्मों के लिए सर्वोच्च सम्मान है।

शिवाजी गणेशन का फ़िल्मी करियर साल 1952 में शुरू हुआ था और साल 1999 तक लगभग 47 सालों तक चला। उन्होंने 1960 और 70 के दशक में तमिल फिल्म उद्योग पर अपना दबदबा बनाया हुआ था ।

गणेशन की अधिकांश फिल्मों में, उन्होंने कई व्यावसायिक भूमिकाएँ और एक हिंदू देवता की भूमिकाएँ निभाईं है जिनमे से सबसे विशेष रूप से भगवान शिव की भूमिका थी । फिल्म थिरुविलयादल में भगवान शिव के किरदार ने उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में बहुत प्रशंसा दिलाई।

शिवाजी गणेशन को तमिल सिनेमा के एक जाने माने अभिनेता के रूप में याद किया जाता है। उनकी मौत के बाद, द लॉस एंजिल्स टाइम्स ने उन्हें ” दक्षिण भारत के फिल्म उद्योग के मार्लन ब्रैंडो ” का दूसरा रूप बताया है।

58bc0c06485585edc487a20a7d7e43dc
शिवाजी गणेशन

शिवाजी गणेशन का जीवन परिचय

नाम (Name)शिवाजी गणेशन
असली नाम (Real Name )विल्लुपुरम चिन्नया मोनराय गणेशमूर्ति
निक नेम ( Nickname )नादिगर थिलागम सिम्माकुरलों , शिवाजी
जन्म तारीख (Date of Birth 1 अक्टूबर 1928
जन्म स्थान( Birth Place)विल्लुपुरम, मद्रास प्रेसीडेंसी, ब्रिटिश भारत
उम्र (Age) 72 साल (मृत्यु के समय )
मृत्यु की तारीख (Date of Death) 21 जुलाई 2001  
मृत्यु का स्थान (Place of Death)चेन्नई , तमिलनाडु , भारत
मृत्यु का कारण (Death Cause)हृदय रोग एवं साँस की बीमारी से
नागरिकता (Nationality)भारतीय
गृह नगर Home Townचेन्नई , तमिलनाडु, भारत
नागरिकता Nationalityभारतीय
धर्म Religionहिन्दू
आँखों का रंग (Eye Color)काला
बालो का रंग( Hair Color)काला एवं सफ़ेद
व्यवसाय(Professions)अभिनेता एवं राजनीतिज्ञ
राजनीती पार्टी (Political Party)थमिझागा मुनेत्र मुन्नानी
पहली फिल्म (Debut )तमिल फिल्म -पराशक्ति (1952 )
तेलगु फिल्म -परदेसी या पूंगोथाई (1953 )
हिंदी फिल्म – मनोहर (1954 )
वैवाहिक स्थिति Marital Statusविवाहित
शादी की तारीख (Date of marriage ) 1 मई 1952

शिवाजी गणेशन का जन्म एवं प्रारंभिक जीवन (Born & Early life )

शिवाजी गणेशन का जन्म 1 अक्टूबर 1928 को तमिलनाडु के विल्लुपुरम जिले में पिता चिन्नया मोनराय एवं माँ राजमणि अम्माल के यहां हुआ था। शिवाजी ने अपने परिवार के पांच भाइयो और बहनो में चौथे नंबर के पुत्र के रूप में जन्म लिया था।

अपने करियर की शुरुआत में, गणेशन ने वीसी गणेशन के नाम से काम किया था क्योकि उनका असली नाम विल्लुपुरम चिन्नया मोनराय गणेशमूर्ति काफी बड़ा नाम था जो फिल्मो में काम करने वाले एक एक्टर के लिए सही नहीं था इसीलिए उन्होंने अपना नाम बदलकर शिवाजी गणेशन रख लिया था।

गणेशन को बचपन से फ़िल्मी जगत से बहुत प्यार था इसीलिए उन्होंने मात्र सात साल की उम्र से एक टूरिंग स्टेज ड्रामा कंपनी में शामिल होने का फैसला किया।

 तीन साल तक टूरिंग स्टेज ड्रामा कंपनी में काम करने के बाद दस साल की उम्र में, वे तिरुचिरापल्ली चले गए और  सांगिलियांदपुरम में एक नाटक मंडली में शामिल हो गए और मंचीय नाटकों में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

नाटक मंडली के प्रशिक्षकों से उन्होंने एक्टिंग एवं डांस की बारीकियां सीखी । उन्होंने अपने नाटक मंडली के गुरुओं से भरतनाट्यम , कथक और मणिपुरी जैसे डांस सीखे।

शिवाजी को एक्टिंग का इतना शौक था की फिल्मो में अपनी शुरुआत करने से काफी काफी लम्बे लम्बे डायलॉगो को यद् करने के लिए घंटो अभ्यास करते थे जिससे उनके फ़िल्मी करियर में कोई दिक्कत ना आये।

शिवाजी जब एक बार नाटक मंडली के साथ एक नाटक ” शिवाजी कांडा हिंदू राज्यम ”में शिवाजी का किरदार निभा रहे थे। सामाजिक कार्यकर्ता और राजनेता इरोड वेंकटप्पा रामासामी ने उनके नाटक के किरदार से प्रभावित होकर उनको ”शिवाजी ” नाम रख दिया था और तभी से उन्हें सभी शिवाजी के नाम से जानने लगे।

शिवाजी गणेशन का परिवार ( Sivaji Ganesan Family)

पिता का नाम (Father’s Name)चिन्नया मोनराय
माता का नाम (Mother’s Name)राजमणि अम्माल
भाई / बहन का नाम (Siblings’s Name )4 (नाम ज्ञात नहीं ,बड़े )
पत्नी का नाम (Sister ’s Name)कमला गणेशन
बेटी का नाम (Daughter ’s Name ) शांति और थेनमोझी (हनी )
बेटे का नाम (Son ’s Name )रामकुमार और प्रभु

शिवाजी गणेशन की शादी ,पत्नी ,बच्चे (Sivaji Ganesan Marriage )

गणेशन ने 1 मई 1952 को कमला से शादी की। उनकी दो बेटियां थीं जिनका नाम शांति गणेशन और थेनमोझी गणेशन था। उनके बड़ा बेटे का नाम रामकुमार गणेशन है जो एक प्रमुख फिल्म निर्माता होने के साथ साथ शिवाजी प्रोडक्शंस का काम भी संभालता है।

उनके दूसरे बेटे का नाम प्रभु गणेशन है जो एक पूर्व सफल प्रमुख अभिनेता रह चुके है। गणेशन के दो बेटो के अलावा उनकी दो बेटिया भी है जिनका नाम शांति गणेशन और थेनमोझी (हनी ) है। अभिनेता शिवाजी गणेशन की पत्नी कमला की मृत्यु शिवाजी गणेशन की मौत से दो साल पहले साल 1999 में हो गई थी।

शिवाजी गणेशन का करियर (Career )

पहली तमिल फिल्म –

गणेशन ने अपने अभिनय की शुरुआत 1952 की तमिल फिल्म पराशक्ति से की थी जिसमें सह-अभिनेत्री पंडारी बाई थीं। इस फिल्म को तमिलनाडु के अबके -मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि द्वारा लिखा एवं निर्देशित किया गया था।

यह फिल्म द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान एक तमिल परिवार के सदस्यों के दुर्भाग्य के बारे में बताती है कि कैसे वे अपने व्यक्तिगत भाग्य से मिले और फिर से मिल गए। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर लगातार 175 दिनों तक चलने का रिकॉर्ड बनाया था।

साल 1955 से 1960 तक

अपनी पहली फिल्म जबरदस्त सफलता के उन्होंने इसी साल एक और फिल्म पनम फिल्म में भी उमापति का किरदार निभाया था। साल 1955 से 1960 तक उन्होंने थिरुंबी पारो,अंबु ,मनिधानम मिरुगमुम ,थुली विशामी ,मुधल थेथि ,संपूर्ण रामायणम् इत्यादि फिल्मो में एक्टिंग की।

साल 1960 में आई तमिल भाषा की सुपरहिट फिल्म वीरपंडिया कट्टाबोम्मन में उनके द्वारा निभाए गए कट्टाबोम्मन के किरदार की वजह से मार्च 1960 में काहिरा में आयोजित एफ्रो-एशियन फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिलाया।  वह विदेश में पुरस्कार पाने वाले पहले भारतीय थे।

तमिल भाषा की सुपरहिट फिल्म वीरपंडिया कट्टाबोम्मन पहली ऐसी तमिल फिल्म थी जो रंगीन स्क्रीन पर रिलीज हुई थी इससे पहले फिल्मे ब्लैक एन्ड वाइट हुआ करती थी।

साल 1960 से 1970 तक

फिल्म नवराथिरी (1964) में, गणेशन ने नौ अलग-अलग भूमिकाएँ निभाईं । हिंदी अभिनेता, संजीव कुमार, इस फिल्म से प्रेरित थे और 1974 में नया दिन नई रात में नौ भूमिकाओं को दोहराया।

इसके अलावा उन्होंने उन्होंने पालम पज़हमम , कप्प्लोटिया थमिज़न , महाभारत (1965) , काई कोदुत्थाधीवम  एवं पचई विलाक्कू , नीला वनम और हरिचंद्र जैसी कई फिल्मो में अभिनय किया। 1960 और 1970 के दशक में उनकी फिल्मों को खूब सराहा गया और वे लगातार हिट देने में सफल रहे।

तमिल फिल्मो के अलावा शिवाजी गणेशन को हिंदी की दो फिल्मो ”मनोहर ” (1954 ) एवं धरती (1970 ) में भी अभिनय करते हुए देखा गया।

साल 1980 से 1999 तक

1980 का दशक एक ऐसा दौर था जिसमें गणेशन ने बढ़िया कहानियों वाली फिल्मो में भूमिकाएँ निभानी शुरू कीं।साल 1980 से 1999 तक उन्होंने त्यागी ,बेज़ावाड़ा बेबुली , चिरंजीवी ,सिम्मा सोप्पनम , मुथल मरियाथाई , कृष्णन वंधानी एवं एन आसाई रासवे। मुथल जैसी कई फिल्मो में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया।

मरियाथाई (1985) ने उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता श्रेणी के तहत फिल्मफेयर पुरस्कार और तमिलनाडु राज्य फिल्म पुरस्कार जीता

राजनितिक करियर –

वह 1955 तक शिवाजी ,द्रविड़ आंदोलन की राजनीति में शामिल रहे। इसके बाद में 1962 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए।। उनकी लोकप्रियता के कारण, उन्हें राष्ट्रीय कांग्रेस तमिलनाडु का हिस्सा बनने का ऑफर मिला।

 तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उन्हें 1982 में राज्यसभा सदस्य बनाया था । 1984 में इंदिरा गांधी की मृत्यु ने गणेशन के राजनीतिक करियर को भी समाप्त कर दिया। 1987 में कांग्रेस पार्टी के साथ मतभेदों के बाद, उन्होंने इसे छोड़ दिया

1988 के बाद, उन्होंने अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी ( थमिज़गा मुनेत्र मुन्नानी ) बनाई। हालांकि, एक अभिनेता के रूप में उनके प्रभाव से से उन्हें राजनीति में ज्यादा फायदा नहीं मिल पाया जिसके कारण अंत में वह राजनीति से हट गए।

शिवाजी गणेशन की 10 प्रसिद्द फिल्मे (Sivaji Ganesan Movies )

1. ‘पराशक्ति’ (1952

2. ‘मनोहर’ (1954)

3. उथामा पुथिरन (1958)

4. ‘वीरपांडिया कट्टाबोम्मन’ (1959)

5. ‘पसमालारी’ (1961)

6. ‘पालम पज़हमुम’ (1961)

7. ‘कप्पलोटिया थमीज़ान’ (1961)

8. ‘बाले पांडिया’ (1962

9.’कर्णन’ (1964)

10. ‘पुड़िया परवई’ (1964)

शिवाजी गणेशन की मृत्यु ( Sivaji Ganesan Death )

शिवाजी गणेशन सांस की समस्या और दिल की बीमारियों से जूझ रहे थे। उन्हें 21 जून 2001 को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था । 72 वर्ष की आयु में उस दिन शाम 7:45 बजे उनका निधन हो गया।

उनके सबसे बड़े बेटे रामकुमार गणेशन ने चेन्नई के बेसेंट नगर श्मशान में उनके अंतिम संस्कार का अंतिम संस्कार किया

शिवाजी गणेशन की संपत्ति  (Sivaji Ganesan Net Worth)

कुल संपत्ति (Net Worth 2021)$ 5 मिलियन से ज्यादा
कुल संपत्ति रुपयों में (Net Worth In Indian Rupees)35 करोड़ रूपये से ज्यादा

FAQ

शिवाजी गणेशन कौन थे ?

शिवाजी गणेशन एक भारतीय तमिल अभिनेता, राजनीतिज्ञ, फिल्म निर्माता थे।

शिवाजी गणेशन का असली नाम क्या है ?

शिवाजी गणेशन का असली नाम विल्लुपुरम चिन्नया मोनराय गणेशमूर्ति है।

शिवाजी गणेशन की मृत्यु कब हुई ?

शिवाजी गणेशन की मृत्यु 21 जून 2001 को हुई।

यह भी जानें –

अंतिम कुछ शब्द –

दोस्तों मै आशा करता हूँ आपको “शिवाजी गणेशन का जीवन परिचय।Sivaji Ganesan Biography in hindi” वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

अगर आपकी कोई प्रतिकिर्याएँ हे तो हमे जरूर बताये Contact Us में जाकर आप मुझे ईमेल कर सकते है या मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है जल्दी ही आपसे एक नए ब्लॉग के साथ मुलाकात होगी तब तक के मेरे ब्लॉग पर बने रहने के लिए ”धन्यवाद

283272931b5637e84fd56e27df3beb17?s=250&d=mm&r=g