लवलीना बोरगोहेन का जीवन परिचय( Lovlina Borgohain Biography In Hindi)

बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन का जीवन परिचय( Lovlina Borgohain Biography in Hindi)

लवलीना बोरगोहेन (बोर्गोहेन) भारतीय मुक्केबाज का जीवन परिचय, ताज़ा खबर, उम्र, कद, टोक्यो ओलंपिक, अगला मैच, धर्म, जाति [Boxer Lovlina Borgohain Biography, Latest Update in Hindi] (Match, Age, Ranking, Religion, Next Game, Height, Olympic 2021, Instagram, Religion, Caste)

लवलीना बोरगोहेन एक भारतीय मुक्केबाज़ खिलाडी है.लवलीना असम की पहली महिला है जिन्होंने ओलिंपिक के लिए भारत का प्रतिनिधित्व कर रही है.लवलीना को भारत सरकार द्वारा अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

लवलीना ने नई दिल्ली में आयोजित विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था जिसमे इन्होने कांस्य पदक जीता था. इन्होने साल 2021 में मई में आयोजित एशियाई चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था जिसमे इन्होने शानदार प्रदर्शन के बदौलत स्वर्ण पदक हासिल करने से चूक गयी और कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

साल 2021में लवलीना टोक्यो ओलिंपिक में भाग लिया था जिसमे इन्होने सेमीफइनल में अपनी जगह पक्का की थी और भारत के लिए कांस्य पदक जीत कर भारत का नाम विश्व में ऊँचा किया है.

लवलीना ने 4 अगस्त 2021 में अपने सेमीफाइनल मैच में तुर्की की नंबर वन खिलाडी बुसेनाज सुरमेनेली से भिड़ी लेकिन इस मैच में लवलीना को हार का सामना करना पड़ा हालाँकि लवलीना ने कांस्य पदक जीता।

Screenshot 43 compressed
नाम ( Name)लवलीना बोरगोहेन
निक नेम (Nick Name )लवलीना
जन्म (Birth)2 अक्टूबर 1997
उम्र (Age)24 साल (साल 2021 में )
जन्म स्थान (Birth Place)गोलाघाट असम, इंडिया
गृहनगर (Hometown) गोलाघाट असम, इंडिया
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
धर्म (Religion)हिंदू
राशि (Zodiac Sig)तुला राशि
कद (Height)5 फीट 10 इंच
आंखों का रंग (Eye Colour)काला
बालों का रंग (Hair Colour)काला
पेशा (Profession)बॉक्सिंग खिलाड़ी
भार वर्ग (Weight Range)69 कि.ग्रा।
कोच (Coach)पदुम बोरो,शिव सिंह
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) आवैवाहिक

लवलीना बोरगोहेन का शुरुवाती जीवन( Early life)

लवलीना बोरगोहेन

भारतीय मुक्केबाद खिलाडी लवलीना बोरगोहेन का जन्म 2 अक्टूबर 1997 को पिता टीकेन बोरगोहेन एवं माँ ममोनी बोरगोहेन के यहाँ असम राज्य के  गोलाघाट जिले में हुआ था।

लवलीना के पिता घर चलाने के लिए एक छोटा सा व्यापार चलाते है. लवलीना की दो जुड़वाँ बहने लीमा और लीना ने भी किक बॉक्सिंग में राष्ट्र स्तर पर हाथ आजमाया था लेकिन आगे नहीं बड़ पायी।

अपनी बहनो की तरह लवलीना ने भी अपना करियर भी किकबॉक्सिंग में शुरू किया था लेकिन बाद में जैसे ही इन्हे मुक्केबाज़ी में मौका मिला तो इन्होने पूरी तरह से सिर्फ बॉक्सिंग में ही अपना करियर बनाने की सोची और बॉक्सिंग के करियर में आगे बढ़ गयी।

भारतीय खेल प्राधिकरण(Sports Authority of India) ने मुक्केबाज़ी के लिए एक प्रतियोगिता आयोजित की थी जिसमे लवलीना ने भाग लिया और यही से उनकी किस्मत चमक गयी.

कोच पदम बोरो ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और उनका चयन कर लिया। मुख्य महिला कोच शिव सिंह के द्वारा भी लवलीना ने बॉक्सिंग के गुण सीखे। लवलीना की सबसे बड़ी इंस्पिरेशन बॉक्सर मैरी कॉम है।

लवलीना बोरगोहेन का परिवार (Lovlina Borgohain Family)

लवलीना बोरगोहेन
पिता का नाम (Father’s name)टीकेन बोरगोहेन
माता का नाम (Mother’s name)ममोनी बोरगोहेन
बहनो का नाम (Sister’s Name)लीमा और लीना

लवलीना बोरगोहेन का बॉक्सिंग करियर ( Boxing Career)

लवलीना

लवलीना को अंतर्राष्ट्रीय लेवल पर अपना बॉक्सिंग करियर शुरू करने मौका बहुत जल्दी मिल गया क्योकि अपने शुरुवाती दौर में इन्होने राष्ट्रीय एवं अंतरराज्यीय मुकाबलों में काफी बढ़िया प्रदर्शन किया।

साल 2017 में इन्होने कज़ाकिस्तान के अस्थाना शहर में आयोजित अंतराष्ट्रीय बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में भाग लेकर अपना इंटरनेशनल डेब्यू किया जिसमे इन्होने कांस्य पदक जीता। इसके अलावा इन्होने इसी साल वियतनाम में एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भी भाग लिया था और कांस्य पदक अपने नाम किया था।

साल 2018 एवं साल 2019 में इन्होने एआईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भाग लेकर कांस्य पदक जीता।

लवलीना बोरगोहेन का टोक्यो ओलिंपिक में प्रदर्शन (Tokyo Olympics 2021)

लवलीना बोरगोहेन

भारतीय मुक्केबाज़ लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलिंपिक में भाग लिया है। लवलीना ने शुक्रवार 30 जुलाई 2021 को हुए मुक्केबाज़ी के मुकाबले में चीनी मुक्केबाज़ ताइपे की चेन निएन-चिन को हराकर सेमीफइनल में अपनी जगह पक्की करी है। लवलीना के सेमीफइनल में पहुंचने से भारत के लिए कांस्य पदक तो पहले ही पक्का हो गया था हालाँकि भारत के लोगो ने उनसे रजत या स्वर्ण पदक की उम्मीद लगाई हुयी थी .

टोक्यो ओलिंपिक में लवलीना ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है उनके प्रदर्शन को देखते हुए उनसे स्वर्ण पदक की उम्मीद करना एकदम उचित होगा। चीनी मुक्केबाज़ ताइपे की चेन निएन-चिन को हराने से पहले उन्होंने जर्मनी की मुक्केबाद नादिन एपेट्ज को हार का स्वाद चखाया।

लवलीना बॉक्सिंग के मैच के शुरुआती क्षणों से ही काउंटर अटैक की रणनीति अपनाती है जिसका फायदा इनको खेल के अंत में मिलता है।

लवलीना ने 4 अगस्त 2021 में अपने सेमीफाइनल मैच में तुर्की की नंबर वन खिलाडी बुसेनाज सुरमेनेली से भिड़ी लेकिन इस मैच में लवलीना को हार का सामना करना पड़ा हालाँकि लवलीना ने कांस्य पदक जीता।

लवलीना बोरगोहेन की उपलब्धियाँ ( Achievements)-

लवलीना बोरगोहेन
साल प्रतियोगिता का नामआयोजित स्थानपदक
2017 विश्व चैंपियनशिपहो ची मिन्ह सिटी, वियतनाम कांस्य
2018 एशियाई चैंपियनशिप नई दिल्ली ,भारत कांस्य
2019 विश्व चैंपियनशिप उलान-उडे,रूस कांस्य
2021 एशियाई चैंपियनशिपदुबई ,यूनाइटेड अरब अमीरात कांस्य

लवलीना बोरगोहेन सोशल मीडिया अकाउंट्स

Lovlina Borgohain Instagramयहाँ क्लिक करें
Lovlina Borgohain Facebookयहाँ क्लिक करें
Lovlina Borgohain Twitterयहाँ क्लिक करें

लवलीना बोरगोहेन कौन है ?

महिला मुक्केबाज़ खिलाडी

लवलीना बोरगोहेन  के पिता का क्या नाम है ?

टीकेन बोरगोहेन

लवलीना बोरगोहेन का गावं कौन सा है ?

गोलाघाट असम, इंडिया

लवलीना बोरगोहेन के कोच का क्या नाम है ?

पदुम बोरो,शिव सिंह

लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलम्पिक में कौन सा पदक जीता ?

लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलम्पिक में कांस्य पदक जीता

यह भी जाने :-

अंतिम कुछ शब्द –

दोस्तों मै आशा करता हूँ आपको ”लवलीना बोरगोहेन का जीवन परिचय( Lovlina Borgohain Biography in Hindi)” वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

अगर आपकी कोई प्रतिकिर्याएँ हे तो हमे जरूर बताये Contact Us में जाकर आप मुझे ईमेल कर सकते है या मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है जल्दी ही आपसे एक नए ब्लॉग के साथ मुलाकात होगी तब तक के मेरे ब्लॉग पर बने रहने के लिए ”धन्यवाद

283272931b5637e84fd56e27df3beb17?s=250&d=mm&r=g