साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय | Mirabai Chanu Biography

साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय | Mirabai Chanu biography in hindi

साइखोम मीराबाई चानू जीवन परिचय, कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 गोल्ड मेडल , कॉमन वैल्थ स्वर्ण पदक विजेता,  (Saikhom Mirabai Chanu Biography Hindi ,Commonwealth Games 2022, Weightlifting, State, Coach, religion, net worth, family)

साइखोम मीराबाई चानू एक भारतीय वेट लिफ्टिंग खिलाड़ी है जिन्होंने साल 2021 में आयोजित हो रहे टोक्यो ओलिंपिक में अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत के लिए रजत पदक जीता।

साल 2022 में वह राष्ट्रमंडल खेलो में भाग ले रही है जो 29 जुलाई से शुरू हो चुके है और दूसरे दिन भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है.

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने अपना पहला गोल्ड मेडल जीत लिया है। स्टार वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने 49 KG वेट कैटेगरी में देश के लिए यह उपलब्धि हासिल की। उन्होंने कुल 202 KG वेट उठाते हुए गेम्स रिकॉर्ड के साथ पहला स्थान हासिल किया।

मीरा बाई चानू के वेट लिफ्टिंग खिलाड़ी बनने की शुरुआत एक किताब में पूर्व भारतीय महिला वेटलिफ्टर कुंजरानी की कहानी पढ़कर हुयी थी.

साइखोम मीराबाई चानू जीवन परिचय

नाम ( Name)मीराबाई चानू
पूरा नाम (Full Name)साइखोम मीराबाई चानू
जन्म (Birth)8 अगस्त 1994
उम्र (Age)24 साल
जन्म स्थान (Birth Place)मणिपुर
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
धर्म (Religion)हिंदू
पेशा (Profession) वेट लिफ्टिंग खिलाड़ी
वर्ग (Event)48 किलोग्राम
लम्बाई( Hight)4 फिट 11 इंच
वजन (Weight)48 किलोग्राम
बालों का रंग (Hair Colour) काला
आंखों का रंग (Eye Colour)काला
गोल्ड मैडल (Gold Medal )2
सिल्वर मैडल (Silver Medal )1
कोच (Coach)विजय शर्मा

मीराबाई चानू का कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 प्रदर्शन(Mirabai Chanu won Gold Medal in Commonwealth Games 2022)

साइखोम मीराबाई चानू
मीराबाई चानू

चानू ने स्नैच में अपने पहले प्रयास में 84 KG वेट उठाया। दूसरे प्रयास में उन्होंने 88 KG का वेट उठाकर अपने पर्सनल बेस्ट की बराबरी की। तीसरे प्रयास में उन्होंने 90KG उठाने का प्रयास किया लेकिन इसमें सफल नहीं हो पाईं। मीराबाई ने क्लीन एंड जर्क के अपने पहले प्रयास में 109 KG वेट उठाया और गोल्ड मेडल पक्का कर लिया। उन्होंने दूसरे प्रयास में 113 KG वेट उठाया। तीसरे प्रयास में उन्होंने 114 KG वेट उठाने की कोशिश की लेकिन, इसमें वे सफल नहीं हो पाईं।

इस तरह स्नैच और क्लीन एंड जर्क मिलाकर उन्होंने 202 KG उठाया। मीरिसस की मैरी रनाइवोसोवा ने 172 KG वेट के साथ सिल्वर और कनाडा की हाना कामिंस्की ने 171 KG वेट उठाकर ब्रॉन्ज मेडल जीता।

मीराबाई चानू का शुरुवाती जीवन (Mirabai Chanu Early Life )

मीराबाई चानू का जन्म 8 अगस्त 1994 को पिता साइकोहं कृति मैतेई एवं माँ साइकोहं ऊँगबी तोम्बी लीमा  के यहाँ मणिपुर राज्य के इम्फाल शहर मे हुआ था।

मीराबाई चानू बचपन से भारी भरकम सामान उठाने में माहिर थी.अपना घर चलाने के लिए ये जंगलो से भारी भरकम लकड़ियों के ढेर लाया करती थी।

इनके पिता साइकोहं कृति मैतेई अपना परिवार चलाने के लिए पीएचडी  डिपार्टमेंट में काम करते थे और इनकी माँ भारतीय भारोत्तोलक ( weightlifter) मीराबाई चानू घर के काम काज सँभालने के अलावा एक दुकान भी चलाती है.

बचपन से मीरा बाई चानू एक भारोत्तोलक खिलाडी ना बनकर एक तीरंदाज बनना चाहती थी लेकिन कक्षा आठ की एक किताब को पढ़ कर इनकी सारी जिंदगी बदल गयी दरअसल उस किताब में भारत की पूर्व भारोत्तोलक खिलाडी कुंजरानी देवी था जिन्होंने अब तक सबसे ज्यादा पदक जीते थे।

अभी तक के इतिहास में कोई भी भारतीय महिला वेटलिफ्टर कुंजरानी के द्वारा जीते गए पदको की बराबरी नहीं कर पाया है बस यही से जन्म हुआ  मीराबाई चानू के भारोत्तोलक खिलाडी बनने का सफर।

मीराबाई चानू का भारोत्तोलक करियर (Mirabai Chanu weightlifting Career)

साइखोम मीराबाई चानू

साल 2014 से साल 2016

मीराबाई चानू साल 2014 से लगातार 48 किग्रा भार वर्ग में भारोत्तोलक ( weightlifter) खेलो में हिस्सा लेती आ रही है। हालाँकि इसी साल 2014 में लोगो की नजरो में वे तब आयी जब उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलो (Commonwealth Games) के पहले दिन ही अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत 48 किग्रा भार वर्ग में सिल्वर मेडल जीता।

साल 2014 के राष्ट्रमंडल खेलो में भारत ने  पंद्रह स्वर्ण पदक ,तीस रजत पदक और उन्नीस कांस्य पदक जीते थे.

साल 2016 में इन्होने  रियो ओलंपिक(Rio Olympics) में भाग लिया और महिला 48 किग्रा वर्ग में अपनी जगह बनाने के बाद भी कोई पदक जीतने में नाकाम रही।

साल 2017 से साल 2019

मीराबाई चानू ने साल 2017 में आयोजित हो रहे विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक (Gold medal ) जीता।

साइखोम मीराबाई चानू
साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल

साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल (Commonwealth Games) में इन्होने हिस्सा लेकर इन्होने महिलाओं की 48 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

साल 2019 में विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में हिस्सा लेकर अपने जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत नए रिकॉर्ड स्थापित किये

साल 2020 से अब तक

इन्होने साल 2020 में सीनियर नेशनल वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में भाग लिया जो साल 2019 में हुए विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप के मात्र चार महीने के बाद आयोजित किया गया था।

इन्होने सीनियर नेशनल वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में अपने जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत अपने पुराने रिकॉर्ड तोड़कर नए रिकॉर्ड स्थापित किये और स्वर्ण पदक अपने नाम किया और अपनी काबिलियत साबित की।

साल 2021 में उज्बेकिस्तान आयोजित एशियाई भारोत्तोलन चैंपियनशिप में भाग लिया जो पिछले साल 2020 में आयोजित होनी थी लेकिन कोरोना की वजह से साल 2021 में आयोजित की गयी। एशियाई भारोत्तोलन चैंपियनशिप में इन्होने स्वर्ण पदक भारत की झोली में डाला और अपनें देश का नाम ऊंचा किया।

साल 2021 में इन्होने जापान के टोक्यो शहर में आयोजित की जा रही  ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलो में  49 किग्रा वर्ग में कुल 202 किग्रा (87 किग्रा + 115 किग्रा) भार उठाते हुए भारत की तरह से खेलते हुए ,भारोत्तोलन खेल में रजत पदक जीतकर भारत की झोली में पहला पदक डाला।

मीराबाई चानू का सम्मान ( Mirabai Chanu Honors )

  • साल 2018 में मीरा बाई चानू को भारत सरकार ने खेल के सबसे बड़े अवार्ड ‘राजीव गाँधी खेल रत्न’ से सम्मानित किया गया।
  • इसी साल भारत सरकार द्वारा देश के चौथे बड़े सम्मान पद्म श्री से मीरा बाई चानू को सम्मानित किया गया .

मीराबाई चानू के पुरस्कार ( Mirabai Chanu Reward )

साइखोम मीराबाई चानू
ओलंपिक में रजत पदक जीतने के लिए मणिपुर सरकार की ओर ₹1 करोड़
क्र. श.साल प्रतियोगिताओ का नाम केंद्र/राज्य सरकार का नाम
प्राप्त धन राशि
12017विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप मणिपुर सरकार की ओर ₹20 लाख
22021टोक्यो ग्रीष्मकालीन ओलंपिकओलंपिक में भाग लेने के लिए ,मणिपुर सरकार की ओर   ₹25 लाख
32021टोक्यो ग्रीष्मकालीन ओलंपिक ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने के लिए मणिपुर सरकार की ओर  ₹10 लाख
42021टोक्यो ग्रीष्मकालीन ओलंपिक ओलंपिक में रजत पदक जीतने के लिए मणिपुर सरकार की ओर ₹1 करोड़
52021टोक्यो ग्रीष्मकालीन ओलंपिकओलंपिक में रजत पदक जीतने के लिए भारत सरकार की ओर ₹ 50 लाख

मीराबाई चानू की उपलब्धियाँ ( Mirabai Chanu Achievements)-

सालप्रतियोगिता के नामआयोजित स्थान पदक
2014 राष्ट्रमंडल खेल(Commonwealth Games)ग्लासगो,सयुक्त राज्य अमेरिका रजत पदक
2017 विश्व चैंपियनशिप (world Championships)अनाहेम, सयुक्त राज्य अमेरिका स्वर्ण पदक
2018 राष्ट्रमंडल खेल(Commonwealth Games) गोल्ड कोस्ट,ऑस्ट्रेलिआ स्वर्ण पदक
2020 एशियाई चैंपियनशिप (Asian Championships)ताशकेंट ,उज्बेकिस्तानकांस्य पदक
2021 ओलिंपिक खेल (Olympic Game)टोक्यो ,जापान रजत पदक

मीराबाई चानू सोशल मीडिया अकाउंट्स

Mirabai Chanu  Instagramयहाँ क्लिक करें
Mirabai Chanu  Facebookयहाँ क्लिक करें
Mirabai Chanu Twitterयहाँ क्लिक करें

FAQ

मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलिंपिक में कौन सा पदक जीता?

रजत पदक (Silver Madel )

मीराबाई चानू कौन है ?

भारतीय वेटलिफ्टिंग महिला खिलाडी

मीराबाई चानू का गावं कौन सा है ?

मणिपुर राज्य का इंफाल शहर

मीराबाई चानू के कोच का क्या नाम है ?

विजय कुमार

यह भी जाने :-

अंतिम कुछ शब्द –

दोस्तों मै आशा करता हूँ आपको ”साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय | Mirabai Chanu biography in hindi” वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

अगर आपकी कोई प्रतिकिर्याएँ हे तो हमे जरूर बताये Contact Us में जाकर आप मुझे ईमेल कर सकते है या मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है जल्दी ही आपसे एक नए ब्लॉग के साथ मुलाकात होगी तब तक के मेरे ब्लॉग पर बने रहने के लिए ”धन्यवाद

283272931b5637e84fd56e27df3beb17?s=250&d=mm&r=g