पीवी सिंधु का जीवन परिचय | P V Sindhu Biography In Hindi

पीवी सिंधु का जीवन परिचय | P V Sindhu Biography in Hindi

पीवी सिंधु का जीवन परिचय, कहानी, जीवनी, बायोग्राफी, जन्म, शिक्षा, कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, जाति (P V Sindhu Biography in Hindi (Tokyo Olympic, Medal, Coach, Age, Husband, Latest Update, Family, Caste, Commonwealth Games 2022,Next Match)

पीवी सिंधु एक भारतीय बैटमिंटन खिलाडी है इन्होने अन्तराष्ट्रीय ओलंपिक में रजत पदक जीतकर पहली भारतीय महिला होने का रिकॉर्ड बनाया है।

सिंधु पहली भारतीय महिला खिलाडी है जिन्होंने वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत हासिल की है इसके अलावा वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में शानदार जीत दर्ज करके पहली बार इस ख़िताब को प्राप्त किया है

डबल ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु ने 08 अगस्त 2022 को बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेल 2022 में महिला एकल के फाइनल बैडमिंटन मैच में कनाडा की मिशेल ली को हरा भारत को स्वर्ण पदक दिलाया। सिंधु के करियर का यह पहला राष्ट्रमंडल खेलों का एकल स्वर्ण है।

फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार सिंधु साल 2018 एवं 2019 में सबसे ज्यादा कमाई ($8.5 मिलियन एवं 5.5 मिलियन ) करने वाली महिला एथलीटों की सूची में अपनी जगह बनाई है।

साल 2021 में आयोजित टोक्यो ओलिंपिक में पी.वी. सिंधु ने कांस्य पदक जीता और अपने देश का नाम रोशन किया।

पीवी सिंधु
पी वी सिंधु का जीवन परिचय

पी वी सिंधु का जीवन परिचय

Table of Contents

पूरा नाम (Full Name)पुसरला वेंकट सिंधु
जन्म (Birth)05-जुलाई-95
उम्र (Age)26 साल (2021)
जन्म स्थान (Birth Place)हैदराबाद, भारत
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
गृहनगर (Hometown)हैदराबाद, भारत
शिक्षा (Education)एमबीए
स्कूल (School )  ऑक्सिलियम हाई स्कूल, सिकंदराबाद
कॉलेज (College)सेंट एन कॉलेज फॉर विमेन, मेहदीपट्टनम
राशि (Zodiac Sig)कैंसर
कद (Height)5 फीट 10.5 इंच
वजन (Weight)65 किलो
शारीरिक माप (Body Measurement)34-26-36
आंखों का रंग (Eye Colour)काला
बालों का रंग (Hair Colour)काला
सबसे ऊंची रैंकिंग (highest ranking)9 (मार्च 2014 में)
कोच (Coach )पुलेला गोपीचंद
पेशा (Profession)भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी
शुरुआत (International Debut )2009 सब-जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप कोलंबो में
वैवाहिक स्थिति (Marital Status)  अविवाहित

पीवी सिंधु के पति का नाम (PV Sindhu husband name )

काफी लोगो का सवाल उनके पति के बारे में होता है लेकिन पीवी सिंधु अभी तक सिंगल है उनकी शादी नहीं हुई है।

पीवी सिंधु का जन्म एवं शुरुआती जीवन (Pv sindhu Birth & Early Life  )

पीवी सिंधु उर्फ़ पुसरला वेंकट सिंधु का जन्म 5 जुलाई 1995 को पिता का नाम पीवी रमाना और माँ का पी. विजया के यहाँ हैदराबाद में हुआ था इनके पिता एशियाई खेलो में भारत की तरफ से खेलते हुए साल 1986 में वॉलीबॉल में कांस्य पदक जीत चुके है

पीवी सिंधु ने अपनी शुरूआती पढ़ाई ऑक्सिलियम हाई स्कूल, सिकंदराबाद प्राप्त की जो की हैदराबाद में स्तिथ है और आगे की पढ़ाई के लिए इन्होने सेंट एन कॉलेज फॉर विमेन, मेहदीपट्टनम, हैदराबाद में दाखिला लिया और MBA की डिग्री प्राप्त की।

इनके माता पिता वॉलीबॉल खेल राष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए खेल चुके है लेकिन पीवी सिंधु झुकाव वॉलीबॉल खेल की तरफ ना होकर बैडमिंटन की तरफ था इसका मुख्य कारण बने पुल्लेला गोपीचंद जो साल 2001 में आल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियन बने थे पीवी सिंधु ने मात्र आठ साल बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था।

पीवी सिंधु की बैडमिंटन गेम की ट्रेनिंग (Pv sindhu badminton game Training )

पीवी सिंधु बैडमिंटन महारत हासिल करने के लिए शुरूआती ट्रेनिंग की जरुरत थी जिसके लिए इन्होने इंडियन रेल्वे इंस्टिट्यूट ऑफ़ सिग्नल इंजीनियरिंग एंड टेलीकम्यूनिकेशन में दाखिला ले लिया जो की सिकंदराबाद स्तिथ था और वह पर इन्होने महबूब अली से बैडमिंटन की कुछ मुख्य बातें सीखी और अपने खेल में निखार लायी।

बैडमिंटन गेम की आगे की ट्रेनिंग लेने के लिए इन्होने अपने मार्गदर्शक और अपने गुरु पुलेला गोपीचंद की गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी में शामिल हो गयी।

किसी खिलाडी के सफल होने का पता उसके जूनून से लगाया जा सकता है और ये जूनून पीवी सिंधु में कूट कूट के भरा था इसका इस साधारण से उदहारण है –

गुरु पुलेला गोपीचंद के मार्गदर्सन में जीती गयी प्रतियोगिताएं

  1. अंडर 10 की केटेगरी में खेलते हुए इन्होने 5th सर्वो ऑल इंडिया रैंकिंग चैंपियनशिप का ख़िताब जीता
  2. अंडर 10 की केटेगरी में ही खेलते हुए पीवी सिंधु ने अंबुजा सीमेंट ऑल इंडिया रैंकिंग में सिंगल ख़िताब जीता
  3. अंडर 13 की केटेगरी में खेलते हुए इन्होने  सब-जूनियर्स में सिंगल ख़िताब जीता
  4. अंडर 13 की केटेगरी में ही खेलते हुए पीवी सिंधु ने अखिल भारतीय रैंकिंग में युगल खिताब में जीत हासिल की
  5. अंडर 13 की केटेगरी में खेलते हुए भारत में 51 वें राष्ट्रीय राज्य खेलों में गोल्ड पदक जीता

पीवी सिंधु का परिवार (Pv sindhu Family)

पीवी सिंधु
पिता का नाम (Father’s name)पी वी रमाना
माता का नाम (Mother’s name)पी. विजया
बहन का नाम (Sister’s name )दिव्य राम पुसरला

पीवी सिंधु का करियर (Pv sindhu Career )

पीवी सिंधु ने मात्र चौदह साल की उम्र से ही बड़े बड़े ख़िताब जितने लग गयी थी आईये नजर डालते है। पीवी सिंधु के अब तक के बैडमिंटन खेल के करियर पर

साल 2009 –

  • इन्होने छोटी उम्र से अपना करियर शुरू करते हुए साल 2009 में सब-जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता

साल 2010 –

  • साल 2010 में इन्होने ईरान फज्र इंटरनेशनल बैडमिंटन चैलेंज कांस्य पदक जीता यह बैडमिंटन चैलेंज सिंगल केटेगरी में था
  • इसके बाद ये बीडब्ल्यूएफ विश्व जूनियर चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल मक्सिको में आयोजित हो रहा था उसमे ये चीनी खिलाडी सूडि से हार गयी

साल 2011 – साल 2013 तक

  • साल 2011 के लिए काफी अच्छा साल रहा इन्होने मालदीव इंटरनेशनल चैलेंज और  इंडोनेशिया इंटरनेशनल चैलेंज में जीत हासिल की इसी साल इन्होने भारत अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन प्रतियोगिता में भी जीत हासिल की
  • साल 2012 में इन्होने ऑल इंग्लैंड ओपन चैंपियनशिप में ताई त्ज़ु-यिंग द्वारा हार का स्वाद चखा। इसी साल इन्होने जापानी खिलाड़ी नोज़ोमी ओकुहारा को हराकर एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में अपनी जीत दर्ज की
  • भारत के श्रीनगर में आयोजित  77वीं सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप में भाग लेने बाद घुटने की चोट के कारण ये इस प्रतियोगिता से बाहर हो गयी
  • साल 2013 में ये अपने जीवन खेल में बेस्ट रेंकिंग 15 पर पहुंच गयी थी। इसी साल इन्होने  सिंगापुर के गु जुआन को हराकर मलेशियाई खिताब में जीत हासिल की
  • इसी साल इन्होने चाइनीज़ खिलाड़ी Wang Shixian को वर्ल्ड चैंपियनशिप में हराकर भारत की वोमेन्स सिंगल में रजत पदक जीता
  • साल 2013 में भारत सरकार की तरफ से इनके बेहतरीन खेल प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरस्कार दिया गया

साल 2014 से साल 2016 तक –

  • साल 2014 में इंडिया ओपन ग्रां प्री गोल्ड के फाइनल में यह साइना नेहवाल से हार गयी। लेकिन क्वार्टर फाइनल में थाई बैडमिंटन खिलाडी बुसानन ओंगबामरुंगफान को हराकर एशियाई चैंपियनशिप में जीत प्राप्त की।
  • साल 2014 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों ( Commenwealth Games) में वोमेन्स सिंगल में सेमीफाइनल के बाद हार प्राप्त हुयी बीडब्ल्यूएफ विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में लगातार दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनने का रिकॉर्ड बनाया
  • साल 2015 में एशियाई चैंपियनशिप में ली ज़ुएरुई और विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में कोरियाई खिलाड़ी  सुंग जी-ह्यून के द्वारा हार का सामना करना पड़ा इसी साल उनको स्ट्रेस फ्रैक्चर की वजह से 6 महीने के लिए अपना खेल रोकना पड़ा
  • पीवी सिंधु के लिए साल 2016 काफी अच्छा रहा इन्होने इस साल इन्होने  किर्स्टी गिल्मर जो की एक स्कॉटलैंड खिलाडी हैं को हार का स्वाद चखा कर मलेशिया मास्टर्स ग्रां प्री गोल्ड महिला सिंगल वर्ग का ख़िताब अपने नाम किया
  • प्रीमियर बैडमिंटन लीग में चेन्नई स्मैशर्स टीम की कप्तान बनने के बाद ये सेमीफइनल तक पहुंचकर देल्ही एसर्स के सामने हार गयी.

साल 2017 से साल 2018 तक –

  • साल 2017 में दिल्ली में आयोजित इंडिया ओपन सुपर सीरीज में दुनिया नंबर वन खिलाडी कैरोलिना को हराकर तूफान मचा दिया और इसी साल कोरिया ओपन में जापान की ओकुहारा को हराकर जीत हासिल करने वाली भारतीय महिला बन गयी इनके खेल प्रदर्शन को देखते हुए आंध्र प्रदेश सरकार ने इन्हे डिप्टी कलेक्टर की नौकरी प्रदान की।
  • साल 2018 में पीवी सिंधु ने राष्ट्रमंडल खेलों (Commonwealth Games) में हिस्सा लिया और मिक्स्ड टीम इवेंट में स्वर्ण पदक एवं महिला एकल में कांस्य पदक जीता। पी.वी. सिंधु ने अपने बेहतरीन खेल प्रदर्शन से विश्व चैंपियनशिप में दूसरी बार रजत पदक जीतकर , विश्व चैंपियनशिप में चार पदक प्राप्त किये।
  • सीजन-एंड बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर में स्वर्ण पदक जीत कर अपने देश का नाम रोशन किया।

साल 2019 से साल 2021 तक –

  • साल 2019 में पीबीएल नीलामी में पी.वी. सिंधू को हैदराबाद हंटर्स द्वारा ख़रीदा गया पूरी सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद सेमीफाइनल में मुंबई रॉकेट्स से हार का सामना करना पड़ा.सिंधु ने भारतीय राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप में भी चैंपियन साइना नेहवाल से हार का सामना करना पड़ा
  • साल 2019 में इंडोनेशिया ओपन के फ़ाइनल तक पहुंचने के बाद वह जापानी खिलाडी  अकाने यामागुची से हार गयी। साल 2019 में आयोजित विश्व चैंपियनशिप में सेमीफाइनल में  चेन युफेई और फाइनल में  नोजोमी ओकुहारा को हरा कर विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाडी बनी।
  • साल 2019 में BWF वर्ल्ड टूर फ़ाइनल में वाइल्ड कार्ड द्वारा मिली एंर्टी में जापानी खिलाडी चेन युफेई  और अकाने यामागुची से हार का स्वाद चखा।
  • 8 मार्च 2020 पीवी सिंधु को बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमेन ऑफ़ ईयर का ख़िताब दिया गया.
  • साल 2021 में सिंधु ने स्विस ओपन में कैरोलिना मारिन के खिलाफ फाइनल में बेहतरीन प्रदर्शन किया लेकिन जीत नहीं हासिल कर पायी। इसी साल सिंधु ने ऑल इंग्लैंड ओपन में मलेशियाई खिलाडी सोनिया छिया को हरा कर किसी तरह दूसरे दौर और फिर सेमीफइनल तक पहुंची और सेमीफइनल में थाईलैंड की पोर्नपावी चोचुवोंग से हार गयी

पी. वी. सिंधु टोक्यो ओलिंपिक 2021 (P V Sindhu Tokyo Olympic)

पीवी सिंधु टोक्यो में आयोजित ओलिंपिक में हिस्सा ले रही थी और स्वर्ण पदक की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी हालंकि चीनी खिलाडी चीनी ताइपे की ताई जू यिंग ने सेमीफइनल में  21-18, 21-12 से हराकर भारत की स्वर्ण पदक पाने की उम्मीद को भी खो दिया।

पीवी सिंधु बेशक स्वर्ण और रजत पदक की दौड़ से बाहर हो लेकिन रविवार 01 अगस्त 2021 को हुए मुकाबले में इन्होने चीनी खिलाडी ही बिंगजियाओ को सीधे सेटो में हराकर कांस्य पदक भारत के नाम किया।ओलिंपिक में दो मैडल जितने वाली पहली भारतीय बनी.

पी. वी. सिंधु कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 (P V Sindhu Commonwealth Games 2022)

डबल ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु ने सोमवार 08 अगस्त 2022 को बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेल 2022 में महिला एकल के फाइनल बैडमिंटन मैच में कनाडा की मिशेल ली को हरा दिया। पीवी सिंधु ने मिशेल ली को 21-15, 21-13 से हराकर भारत को स्वर्ण पदक दिलाया। सिंधु के करियर का यह पहला राष्ट्रमंडल खेलों का एकल स्वर्ण है।

पीवी सिंधु को प्राप्त सम्मान ( Pv sindhu Honours )

  • 24 सितंबर 2013 को इनके बैटमिंटन में जबरदस्त प्रदर्शन के लिए भारत सरकार की तरफ से अर्जुन पुरस्कार दिया गया।
  • मार्च 2015 में सिंधु को भारत का चौथा सबसे बड़ा पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया।
  • सिंधु को 29 अगस्त 2016 को भारत का सबसे ऊंचा खेल पुरस्कार ,राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त हुआ।
  • जनवरी 2020 में में भारत के तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान ,पद्म भूषण पुरस्कार से सिंधु को सम्मानित किया गया।

पीवी सिंधु को प्राप्त अन्य सम्मान ( Pv sindhu other Honours )

  • FICCI ब्रेकथ्रू स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ़ द ईयर 2014
  • NDTV इंडियन ऑफ़ द ईयर 2014,
  • वर्ष 2015 में मकाऊ ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप में जीत हासिल करने के लिए बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया के द्वारा 10 लाख रूपये प्राप्त .
  • ओलंपिक में क्वालीफाई करने पर बॉलीवुड एक्टर सलमान खान ने 1.01 लाख रूपये दिए .

पीवी सिंधु की पसंद और नापसंद

पसंदीदा अभिनेता (Favourite Actor)महेश बाबू और प्रभास , ऋतिक रोशन और रणवीर सिंह
पसंदीदा अभिनेत्री (Favourite Actress)दीपिका पादुकोने
पसंदीदा खाना (Favourite Food)बिरयानी, आइसक्रीम, पास्ता, पिज़्ज़ा
पसंदीदा एथलीट (Favourite Athlete)रोजर फेडरर, राफेल नडाल, उसैन बोल्ट
पसंदीदा सुपर हीरो (Favourite Superhero)अद्भुत महिला

पीवी सिंधु  की कुल संपत्ति (Pv sindhu Net Worth)

कुल संपत्ति (Net Worth 2021)$ 10 मिलियन से ज्यादा
कुल संपत्ति रुपयों में (Net Worth In Indian Rupees)80 करोड़ लगभग

पीवी सिंधु कौन है ?

पीवी सिंधु एक भारतीय बैटमिंटन खिलाडी है।

पीवी सिंधु के पति का नाम क्या है ?

पीवी सिंधु अभी तक अविवाहित है इनकी अभी तक शादी नहीं हुई है.

पीवी सिंधु का पूरा नाम क्या है ?

पीवी सिंधु का पूरा नाम पुसरला वेंकट सिंधु है।

पीवी सिंधु किस राज्य की है ?

पीवी सिंधु हैदराबाद राज्य की रहने वाली है।

पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलम्पिक में कौन सा पदक जीता

पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलम्पिक में कांस्य पदक जीता

यह भी जाने :-

अंतिम कुछ शब्द –

दोस्तों मै आशा करता हूँ आपको ”पीवी सिंधु का जीवन परिचय। P.V. Sindhu Biography in hindi” वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

अगर आपकी कोई प्रतिकिर्याएँ हे तो हमे जरूर बताये Contact Us में जाकर आप मुझे ईमेल कर सकते है या मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है जल्दी ही आपसे एक नए ब्लॉग के साथ मुलाकात होगी तब तक के मेरे ब्लॉग पर बने रहने के लिए ”धन्यवाद

283272931b5637e84fd56e27df3beb17?s=250&d=mm&r=g