मनोज मुकुंद नरवणे का जीवन परिचय । Manoj Mukund Naravane Biography in Hindi

1
112

मनोज मुकुंद नरवणे की जीवनी,जीवन परिचय , जन्म, परिवार, शिक्षा, सैन्य कैरियर, पुरस्कार और अधिकManoj Mukund Naravane Biography in Hindi Biography,  Birth, Family, Education, Military Career, Awards ,CDS and More)

मनोज मुकुंद नरवणे भारतीय सेना में परम विशिष्ट सेवा पदक धारक लेफ्टिनेंट जनरल हैं। जनरल मनोज मुकुंद नरवणे दुखद हेलीकॉप्टर दुर्घटना में  सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद 16 दिसंबर 2021 को उन्हें सीडीएस का पद सौपा गया। मनोज मुकुंद सीसीएस बनने से पहले 31 दिसंबर 2019 को 28 वें थल सेनाध्यक्ष (CoAS)  चुने गए थे।

आइये सीडीएस मनोज मुकुंद नरवणे के जीवन पर एक नजर डालते हैं और जानते हे उनके बारे में बहुत कुछ।

मनोज मुकुंद नरवणे का जीवन परिचय

नाम ( Name)मनोज मुकुंद नरवणे
प्रसिद्धी का कारण (Famous For )भारत के 28वें सेनाध्यक्ष होने के नाते
जन्म (Birth)22 अप्रैल 1960 
उम्र (Age )61 साल (साल 2021 )
जन्म स्थान (Birth Place)पुणे, बॉम्बे राज्य, भारत
गृहनगर (Hometown)पुणे, महाराष्ट्र
शिक्षा Education Qualificationनेशनल डिफेन्स अकादेमी से स्नातक
डिफेन्स स्टडी में स्नातकोत्तर डिग्री
एम.फिल. 
स्कूल (School )जनाना प्रबोधिनी पाठशाला , पुणे, महाराष्ट्र
कॉलेज (College)नेशनल डिफेन्स अकादेमी
इंडियन मिलिट्री अकादेमी
दी उनिवर्सिटी ऑफ़ मद्रास
 देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर, मध्य प्रदेश
दी डिफेन्स सर्विस स्टाफ कॉलेज , वेलिंगटन, तमिलनाडु
आर्मी वार कॉलेज, महू, मध्य प्रदेश
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
धर्म (Religion)हिन्दू
राशि (Zodiac Sig)वृषभ
जाति (Caste )मराठी ब्राह्मण
कद (Height)5 फीट 8 इंच
आंखों का रंग (Eye Colour)काला
बालों का रंग (Hair Colour)सफ़ेद एवं काला
पेशा (Profession)आर्मी ऑफिसर
कार्यकाल (Service Years )1980- वर्तमान
पद (Rank)सीडीएस
सर्विस / ब्रांच ( Army Service/Branch)भारतीय आर्मी
यूनिट (Unit) सातवीं सिख लाइट इन्फैंट्री
राष्ट्रीय राइफल्स
असम राइफल्स
स्ट्राइक कोर
पूर्वी कमान
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) विवाहित

मनोज मुकुंद नरवणे का जन्म एवं शुरुआती जीवन (Birth & Early Life )

मनोज मुकुंद नरवणे का जन्म 22 अप्रैल 1960 को महाराष्ट्र के बॉम्बे (अब मुंबई ) शहर में पिता मुकुंद नरवणे एवं माँ सुधा नरवणे के यहां हुआ था।  उनके पिता, मुकुंद नरवणे, भारतीय वायु सेना में एक पूर्व अधिकारी हैं, जो विंग कमांडर के पद से रिटायर हुए थे और उनकी माँ सुधा ऑल इंडिया रेडियो में अनाउंसर थीं ।

मनोज मुकुंद नरवणे  की पत्नी ( General MM Naravane Wife )

मनोज मुकुंद नरवणे की पत्नी वीणा नरवणे पुणे , महाराष्ट्र की रहने वाली हैं । उन्हें पेंटिंग, योगा और गार्डनिंग पसंद है। उनकी पत्नी वीना नरवणे 25 साल के अनुभव के साथ एक शिक्षिका हैं। वह आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष हैं । इनकी दो बेटियां भी हैं जिनका नाम ईशा एवं अमला है

मनोज मुकुंद नरवणे की शिक्षा ( General MM Naravane Education )

जनरल नरवणे ने अपनी स्कूली शिक्षा पुणे के ज्ञान प्रबोधिनी प्रशाला में प्राप्त की। उन्होंने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, पुणे, भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून, रक्षा सेवा स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन और आर्मी वॉर कॉलेज, महू में भाग लिया। 

जनरल एमएम नरवणे के पास मद्रास विश्वविद्यालय, चेन्नई से रक्षा अध्ययन में एमए की डिग्री और एम.फिल है। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर से रक्षा और प्रबंधन अध्ययन में डिग्री। वह वर्तमान में पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला से रक्षा और सामरिक अध्ययन में डॉक्टरेट की पढ़ाई कर रहे हैं।

मनोज मुकुंद नरवणे का परिवार ( General MM Naravane Family )

पिता का नाम (Father’s Name)मुकुंद नरवणे
माता का नाम (Mother’s Name)सुधा नरवणे
पत्नी का नाम (Wife ’s Name)वीणा नरवणे 
बच्चो का नाम (Children ’s Name)बेटिया –  ईशा एवं अमला
बेटा -कोई नहीं

कई अहम मोर्चों पर काम कर चुके हैं जनरल मनोज मुकुंद नरवणे-

अपनी 40 साल से अधिक की आर्मी करियर में, जनरल मनोज के मुख्य मोर्चों पर भी काम कर चुके है जिसमें से एक  जम्मू-कश्मीर और उत्तर पूर्व में अशांति एवं उग्रवादियो वाला इलाका एवं दंगे विरोधी माहौल में कई कमांड और आर्मी स्टाफ के नियुक्ति के लिए काम किया है।

मनोज मुकुंद नरवणे म्यांमार
मनोज मुकुंद नरवणे म्यांमार में

इसके अलावा जनरल मनोज ने जम्मू-कश्मीर में नेशनल राइफल्स बटालियन और पूर्वी मोर्चे पर एक पैदल आर्मी सेना ब्रिगेड की भी कमान संभाली थी , इसके अलावा उन्होंने श्रीलंका में भारतीय शांति सेना में भी हिस्सा लिया था। अपने जीवनकाल में वह तीन साल तक उन्होंने म्यांमार के यांगून में भारतीय दूतावास में भारतीय रक्षा अताशे के रूप में भी काम किया है।।

मनोज मुकुंद नरवणे का मिलिट्री करियर ( Army Career )

  • नरवणे को जून 1980 में सिख लाइट इन्फैंट्री की 7वीं बटालियन में कमीशन किया गया था। 40 वर्षों से अधिक के अपने आर्मी करियर में, उन्होंने इंस्पेक्टर जनरल (उत्तर) से लेकर चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ (सीओएएस) तक के विभिन्न पदों पर कार्य किया और अब वह जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद सीडीएस पद के लिए सबसे आगे हैं।  
  • 1 अक्टूबर 2018 को, उन्होंने पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडर-इन-चीफ के रूप में कार्यभार संभाला। पूर्वी कमान पूर्वी क्षेत्र में चीन के साथ भारत की 4,000 किलोमीटर लंबी सीमा की रक्षा करती है।
मनोज मुकुंद नरवणे पूर्वी कमान में अपने समय के दौरान
मनोज मुकुंद नरवणे पूर्वी कमान में अपने समय के दौरान
  • 16 दिसंबर 2019 को, विजय दिवस की पूर्व संध्या पर, उन्हें 27 वें सेना प्रमुख बिपिन रावत के 31 दिसंबर 2019 को सेवानिवृत्त होने के बाद भारत के अगले सेनाध्यक्ष के रूप में चुना गया था  ।
  • मनोज नरवणे के थल सेना चीफ के रूप में कार्यभार संभालने के बाद, भारत के सभी डिफेन्स चीफ 56वीं नेशनल डिफेन्स अकादमी, पुणे के सेम कोर्स से थे। भारत के इतिहास में ऐसा दूसरी बार ऐसा संयोग हुआ है।
  • एमएम नरवणे ने जम्मू और कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स की दूसरी बटालियन (सिखली), 106 इन्फैंट्री ब्रिगेड, और असम राइफल्स को कोहिमा, नागालैंड में महानिरीक्षक (उत्तर) के रूप में कमान दी। 
  • उन्होंने ऑपरेशन पवन के दौरान जम्मू और कश्मीर और पूर्वोत्तर भारत में आतंकवाद विरोधी अभियानों और श्रीलंका में भारतीय शांति सेना में भी काम किया।
  • लेफ्टिनेंट जनरल के पद पर पदोन्नत होने के बाद, उन्होंने अंबाला स्थित खरगा स्ट्राइक कोर की कमान संभाली और दिल्ली क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) के रूप में कार्य किया। 
  • जब वे दिल्ली क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडर-इन-चीफ के पद पर तैनात थे, तब वे 2017 गणतंत्र दिवस परेड के कमांडर थे।
मनोज मुकुंद नरवाने 2017 गणतंत्र दिवस परेड के कमांडर के रूप में
मनोज मुकुंद नरवाने 2017 गणतंत्र दिवस परेड के कमांडर के रूप में
  • सेना कमांडर ग्रेड के पद पर पदोन्नति पर, उन्होंने जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ आर्मी ट्रेनिंग कमांड और जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ पूर्वी कमान के रूप में कार्य किया। 
  • उन्हें 1 सितंबर 2019 को थल सेनाध्यक्ष (VCOAS) नियुक्त किया गया था और 31 दिसंबर 2019 को जनरल बिपिन रावत को CDS बनाए जाने पर उन्हें COAS के पद पर पदोन्नत किया गया था। 
  • 16 दिसंबर 2021 को मनोज मुकुंद को पूर्व सीडीएस बिपिन रावत के निधन के बाद सीडीएस के पद पर नियुक्त किया गया.

सेना में कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ना –

  • साल 1980 को मनोज मुकुंद नरवणे सेना में भर्ती हुए थे.
  • दो साल बाद 7 जून 1982 में उनको सेना का लेफ्टिनेंट के पद पर प्रोमोसन दिया गया .
  • 7 जून 1985 में उन्हें आर्मी ने उन्हें एक कप्तान के पद पर नियुक्त किया .
  • छह साल बाद 7 जून 1991 उन्हें एक बार फिर से प्रोमोसन देकर आर्मी का मेजर बना दिया .
  • करीब 11 साल बाद 31 दिसंबर 2002 में वह लेफ्टिनेंट कर्नल थे.
  • 1 फरवरी 2005 में वह कर्नल की पोस्ट पर तैनात किये गए.
  • पांच साल बाद 19 जुलाई 2010 में उनको ब्रिगेडियर बनाया गया.
  • एक बार फिर से 3 साल बाद 1 जनवरी 2013 में वह मेजर जनरल बने.
  • दो साल बाद 10 नवंबर 2015 में लेफ्टिनेंट जनरल के पद पर प्रमोट हुए.
  • 31 दिसंबर 2019 को भारत सरकार ने उन्हें आर्मी चीफ के पद पर नियुक्त किया . 
  • 2 साल बाद 16 दिसंबर 2021 को भारत सरकार द्वारा उन्हें सीडीएस के पद पर नियुक्त किया गया।

मनोज मुकुंद नरवणे  के पुरस्कार एवं उपलब्धिया ( Awards & Achievement )

40 सालो के अपने आर्मी करियर में, सीओएएस जनरल एमएम नरवने को विभिन्न पदक और सम्मान से सम्मानित किया गया है। ये नीचे सूचीबद्ध हैं।

  • परम विशिष्ट सेवा पदक
  • अति विशिष्ट सेवा पदक
  • सेना पदक
  • विशिष्ट सेवा पदक
  • सामान्य सेवा पदक
  • विशेष सेवा पदक
  • ऑपरेशन पराक्रम पदक
  • सैन्य सेवा पदक
  • विदेश सेवा मेडल
  • आज़ादी की 50वीं वर्षगाँठ पदक
  • 9 लंबा सेवा पदक
  • 20 साल लंबा सेवा पदक
  • 30 साल लंबा सेवा पदक

FAQ

मनोज मुकुंद नरवणे कौन है ?

मनोज मुकुंद नरवणे भारतीय सेना में परम विशिष्ट सेवा पदक धारक लेफ्टिनेंट जनरल हैं।

मनोज मुकुंद नरवणे का जन्म कहाँ हुआ था ?

मनोज मुकुंद नरवणे का जन्म 22 अप्रैल 1960 को महाराष्ट्र के बॉम्बे (अब मुंबई ) शहर में हुआ था

मनोज मुकुंद नरवणे सीडीएस कब बने ?

16 दिसंबर 2021

यह भी पढ़े :-

अंतिम कुछ शब्द 

दोस्तों मैं आशा करता हूँ आपको ”मनोज मुकुंद नरवणे का जीवन परिचय । Manoj Mukund Naravane Biography in Hindi ”वाला Blog पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये Blog पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करे लोगो को भी इसकी जानकारी दे

अगर आपकी कोई प्रतिकिर्याएँ हे तो हमे जरूर बताये Contact Us में जाकर आप मुझे ईमेल कर सकते है या मुझे सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है जल्दी ही आप एक नए ब्लॉग के साथ मुलाकात होगी तब तक के लिए मेरे ब्लॉग पर बने रहने के लिए ”धन्यवाद

283272931b5637e84fd56e27df3beb17?s=250&d=mm&r=g
Previous articleतेजस्वी यादव का जीवन परिचय,शादी, पत्नी ।Tejashwi Yadav Biography in Hindi
Next articleभारती सिंह का जीवन परिचय। Bharti Singh Biography in Hindi
Shubhamsirohi.com में आपका स्वागत है , इस ब्लॉग पर हम रोजाना रोज़मर्रा से जुडी updates को शेयर करते रहते हैं. मुख्य रूप से  हिंदी में कोई नयी वेब सीरीज या मूवी का Reviews,Biographyसाथ  ही साथ Latest Trends के बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे

1 COMMENT

Comments are closed.